शनिवार, 24 नवंबर 2018

गूगल एडसेंस से जुड़े प्रश्न


गूगल एडसेंस से जुड़े प्रश्न

अगर आप गूगल के साथ पार्टनर पब्लिशर बनके अपने प्लेटफार्म वेबसाइट या मोबाइल एप्प या अन्य इस तरह के प्लेटफार्म पर गूगल एड चलाना चाहते हैं और उससे पैसा कमाना चाहते हैं तो आप गूगल एडसेंस से कैसे जुड़ सकते हैं ये मैं आपको बताऊंगा आज। 

गूगल एडसेंस लोगो - हिंदी 365
गूगल एडसेंस लोगो - हिंदी 365 
आइये जानते हैं कि गूगल एडसेंस क्या है ?
गूगल एडसेंस गूगल का ही एक प्रोडक्ट है जिस पर पब्लिशर यानि वेब पब्लिशर्स का रजिस्ट्रेशन होता है तथा गूगल द्वारा जो  एड आपकी वेबसाइट पर चलाये जाने हैं उसका कोड भी यहीं मिलता है। आपको पेमेंट भी इसी पोर्टल के माध्यम से ही मिलता है। आप इस पर देख सकते है कि आप का कौन सा एड कितने रूपये कमा रहा है इत्यादि। 
आइये स्टेप बाई स्टेप जानते हैं क्या प्रोसेस होता है एडसेंस से जुड़ने के लिए ?
1 आप अपनी वेबसाइट या मोबाइल एप बनाते हैं। 
2. उसके बाद आप सभी के पास जो भी गूगल एडसेंस से जुड़ना चाहते है एक गूगल अकाउंट बना लें आसान शब्दों में आपका जीमेल अकाउंट। गूगल के एक ही अकॉउंट से आप उसके सभी प्रोडट्स का इस्तेमाल कर सकते हैं। 
3. अब आप गूगल सर्च में गूगल एडसेंस लिखे और एडसेंस वेबसाइट पर अपने जीमेल अकाउंट से लॉगिन कर लें। आप से आपके प्लेटफार्म का यूआरएल पूछा जायेगा रजिस्ट्रेशन करते वक्त। वह ध्यान से डालें क्यूंकि गूगल इसके बाद आपके प्लेटफार्म को चेक करते हैं। 
4.  गूगल कई बार आपके रजिस्ट्रेशन को रिजेक्ट भी कर सकते हैं अगर उन्हें लगता है कि एडसेंस की सभी पॉलिसी मैच नहीं हो रही हैं। आप भी रजिस्ट्रेशन से पहले पॉलिसी पढ़ लें उससे काफी ज्ञान बढ़ेगा आपका एडसेंस के बारे में। 
5. अगर आपका रजिस्ट्रेशन अप्रूव हो जाता है तो आपको नोटिफिकेशन आ जायेगा और आप उसके बाद वहीँ से एड यूनिट कोड लेकर अपनी वेबसाइट पर डाल सकते हैं।  इसके बाद आपको कुछ नहीं करना है पेमेंट सेक्शन में अपने बैंक अकाउंट को जोड़ लें और वेबसाइट पर अच्छा अच्छा कंटेंट डालते जाएँ और मजे लें। आपके पैसे आपके अकाउंट में आते रहेंगे। 

एडसेंस से जुड़े कुछ अन्य प्रश्न :
प्रश्न : मेरा एडसेंस कब तक होगा ?
उत्तर : इसके अप्रूवल में लगभग 2 -7 दिन का समय लगता है। एडसेंस पॉलिसी और निर्देशों को ध्यान से पढ़ लीजिये और निश्चिंत बैठिये। 

प्रश्न : मेरा एडसेंसे अकाउंट क्रिएट करने के लिए जो कोड आता है मेरे ईमेल पर नहीं आता क्या करूँ ?
उत्तर : चेक करिये अपने मेल बॉक्स के सारे फ़ोल्डर्स। और चेक करें आपने सही मेल तो डाला है न रजिस्ट्रेशन करते वक्त। कई बार लोगो के दो जीमेल अकाउंट होते हैं वो एडसेंस का रजिस्ट्रेशन अलग अकाउंट से करते है और कोड अलग अकाउंट में देखते हैं। और वेबसाइट पर एड दिखाने का कोड एडसेंस में ही मिलेगा। 

प्रश्न : मेरा आइडेंटिटी वेरिफिकेशन फ़ैल हो गया है क्या करूँ ?
उत्तर : चेक करो आपके हर जगह पर नाम एक ही हैं क्या। डिटेल मिसमैच होने की वजह से आइडेंटिटी वेरिफिकेशन फेल होता है। जैसे कि आपका पेमेंट डिटेल का नाम और पब्लिशर का नाम अलग नहीं होना चाहिए। एक बार चेक कर लो जैसे ही आप इसे वेरिफाई कर लेंगे उसके बाद फिर से एड शुरू हो जायेंगे आपके प्लेटफार्म पर। 

प्रश्न : एडसेंस में मैक्सिमम कितना विदड्रा कर सकते है ?
उत्तर : ऐसी कोई मैक्सिमम लिमिट नहीं है जितना आपकी वेबसाइट पैसा कमाएगी आप ले सकते हैं। 

प्रश्न : एडसेंस सीपीसी (कॉस्ट पर क्लिक) कम होने के 5 मुख्य कारण क्या होते है ?
उत्तर : सबसे पहला होता है एड्स का सही जगह पर नहीं लगा होना। अगर आपका एड अच्छी जगह पर नहीं लगा है उसे यूजर सही से देख नहीं पता है तो आपका सीपीसी कम रहता है। 
2 जिस एडवरटाइजर का एड आपकी वेबसाइट पर चल रहा है हो सकता है कि वह कम बिड करता हो उस कम इन्वेस्टमेंट की वजह से भी सीपीसी लो रह सकता है। 
3 आपकी वेबसाइट पर कंटेंट कम या कम क्वालिटी का होने की वजह से भी सीपीसी कम हो जाता है। 
4 वेबसाइट पर कम लोगों का आना भी सीपीसी कम करता है। 
5 अगर आपकी वेबसाइट से इनवैलिड क्लिक यानि अनचाहे क्लिक होते हैं जिससे एडवरटाइजर को कोई फायदा नहीं होटा तो गूगल ऑटोमेटिकली सीपीसी कम कर देता है। 

प्रश्न : एडसेंस का मालिक कौन है ?
उत्तर : एडसेंस का मालिक गूगल ही है इनके मालिक नहीं बल्कि पैरेंट आर्गेनाइजेशन होती हैं। 
Share this article :

0 comments:

एक टिप्पणी भेजें