गुरुवार, 22 नवंबर 2018

बांग्लादेश का राष्ट्रगान - आमार शोनार बांग्ला



बांग्लादेश का राष्ट्रगान - आमार शोनार बांग्ला

आज हम आपको बांग्लादेश के राष्ट्रगान के बारे में बताएँगे। दरअसल इसे भी भारत राष्ट्रगान की तरह गुरुदेव रबीन्द्रनाथ टैगोर ने लिखा था। आज हम जानेंगे इसके बोल और उनका मतलब।

बांग्लादेश का झंडा - हिंदी 365
बांग्लादेश का झंडा - हिंदी 365
आमार शोनार बांग्ला का मतलब होता है - मेरा सोने जैसा बंगाल 

राष्ट्रगान के बोल और उनका मतलब 

आमार शोनार बांग्ला
आमार शोनार बांग्ला,
आमि तोमाए भालोबाशी। 
मतलब : मेरा प्रिय बंगाल
मेरा सोने जैसा बंगाल,
मैं तुमसे प्यार करता हूँ। 

चिरोदिन तोमार आकाश,
तोमार बताश,
अमार प्राने बजाए बाशी। 
मतलब : सदैव तुम्हारा आकाश,
तुम्हारी वायु
मेरे प्राणों में बाँसुरी सी बजाती है।

ओ माँ,
फागुने तोर अमेर बोने
घ्राने पागल कोरे,
मोरी हए, हए रे,
ओ माँ,
ओघ्राने तोर भोरा खेते
अमी कि देखेछी मोधुर हाशी। 
मतलब : ओ माँ,
वसंत में आम्रकुंज से आती सुगंध
मुझे खुशी से पागल करती है,
वाह, क्या आनंद!
ओ माँ,
आषाढ़ में पूरी तरह से फूले धान के खेत,
मैने मधुर मुस्कान को फैलते देखा है।

Share this article :

0 comments:

एक टिप्पणी भेजें